June 7, 2012

Khtaas

ये कैसी खटास है
जो दिलों को चीर जाती है


कितने ह़ी मीठे जाम पिलायो
उनकी जुबां मीठी नहीं हो पाती है

1 comment:

  1. वाह क्या बात है गहरी अभिव्यक्ति, अति सुन्दर
    ( अरुन शर्मा = www.arunsblog.in )

    ReplyDelete